पेयजल और स्वच्छता

पेयजल और स्वच्छता मंत्रालय पेयजल और स्‍वच्‍छता मंत्रालय, भारत सरकार, जो पहले पेयजल और स्‍वच्‍छता विभाग के रूप में ग्रामीण विकास मंत्रालय के अंतर्गत था,वर्तमान में राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), पेयजल एवं स्वच्छता के नेतृत्व में है।। त्‍वरित ग्रामीण पेयजल आपूर्ति कार्यक्रम (एआरडब्‍ल्‍यूएसपी) 1972-1973 में जल क्षेत्र में शुरू किया गया पहला बड़ा हस्‍तक्षेप था। इसकी कवरेज में तेजी लाने के लिए 1986 में पेयजल प्रौद्योगिकी मिशन शुरू किया गया था। वर्ष 1991-92 में इस मिशन का नाम राजीव गांधी राष्‍ट्रीय पेयजल मिशन रखा गया था तथा वर्ष 1991 में पेयजल और स्‍वच्‍छता पर ध्‍यान केन्‍द्रित करने के लिए ग्रामीण विकास मंत्रालय के अंतर्गत पेयजल आपूर्ति विभाग (डीडीडब्‍ल्‍यूएस) का गठन किया गया था। पहली प्रमुख क्षेत्र सुधार परियोजना (एसआरपी) उसी वर्ष शुरू की गई थी। बाद में, वर्ष 2010 में इसका नाम बदलकर पेयजल और स्‍वच्‍छता विभाग रखा गया था |